कोरोना वायरस : ताली /थाली बजाने से पैदा हुए कम्पन से क्या वायरस कि शक्ति कम होती है ? सच्चाई पढ़ें

0
204

22 मार्च को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पूरे भारत में जनता कर्फ्यू मनाया गया। इसी दिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सभी से आह्वाहन किया था कि 5:00 बजे अपने घरों से बालकनी में निकलकर इमरजेंसी सेवाओं के लिए काम कर रहे स्टाफ के प्रति ताली या थाली बजाकर आभार व्यक्त करेंगे।

ताली /थाली बजाने से पैदा हुए कम्पन से क्या वायरस कि शक्ति होती है ?
ताली /थाली बजाने से पैदा हुए कम्पन से क्या वायरस कि शक्ति होती है ? (For Image Source Click on the Image )

इसके बाद सोशल मीडिया पर यह बात वायरल हो गया कि तालि/ थाली बजाने से जो कंपन/वाइब्रेशन पैदा होगी उससे कोरोना वायरस मर जाएंगे।

वायरल हो रहा फेक मैसेज कुछ इस प्रकार था कि 22 मार्च को चंद्रमा नहीं होने के कारण अंधेरा होगा। सभी वायरस और बैक्टीरिया इसी तरह के दिनों में पूरी शक्ति के साथ काम करते हैं। लोगों द्वारा ताली बजाने या संख बजाने से, वाइब्रेशन/कंपन पैदा होगी जिससे वायरस अपनी पूरी शक्ति खो बैठेंगे ।

भारत सरकार के प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बताया है कि यह मैसेज फेक है और फैलाई जा रही जानकारी का कोई दावा नहीं, और ताली बजाने से जो कंपन पैदा होती है उसे वायरस की शक्ति खत्म नहीं होती ।

जनता कर्फ्यू के दिन ताली बजाने वाला कार्यक्रम सिर्फ इमरजेंसी में काम कर रहे लोगों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए किया गया था। इसका कोरोना वायरस खत्म होने से कोई संबंध नहीं है।

यहाँ तक कि बॉलीवुड अभिनेता श्री अमिताभ बच्चन ने भी ट्वीट किया था की जनता कर्फ्यू के दिन ताली /थाली बजाने से पैदा हुए वाइब्रेशन / कम्पन से वायरस कि शक्ति कम हो जाएगी। लेकिन फिर बाद में उन्होंने वह ट्वीट डिलीट कर दिया।

कोरोना वायरस के चलते भारत में स्थिति

कोरोना वायरस को भारत में फैलने से रोकने के लिए भारत के 728 जिले में से 606 जिलों को लॉक डाउन कर दिया गया है।

पूरे विश्व में इसके चलते 15000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की संख्या 500 के पास पहुंचने वाली है।

जहां लगातार हमें व्हाट्सएप फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया वेबसाइट से कोरोना वायरस के चलते हजारों मैसेजेस आ रहे हैं , जरूरी है कि हम इन मैसेजेस के सत्यता को चेक करें और उसके बाद ही माने।

न्यूज़ के साथ-साथ लोगों द्वारा बहुत से फेक न्यूज़ भी शेयर किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस : यह फेक न्यूज़ WhatsApp पर वायरल हो रहा, पढ़ें क्या है सच्चाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here