हरियाली से दूर रहना बढ़ाता है ह्रदय रोग का खतरा

0
191

एक स्टडी में देखा गया कि जो लोग लंबे समय से हरियाली से दूर रहते हैं उन्हें ह्रदय रोग और टाइप टू डायबिटीज होने का ज्यादा शंका रहता है।

वायु प्रदूषण का ह्रदय रोग, स्ट्रोक और टाइप 2 डायबिटीज के बढ़ते केसेस के साथ संबंध है।

ह्रदय रोग का खतरा हरियाली से दूर रहने से : स्टडी में पाया गया
ह्रदय रोग का खतरा हरियाली से दूर रहने से : स्टडी में पाया गया

विकासशील देशों में ह्रदय रोग ही बहुत से मृत्यु का कारण है। हाइपरटेंशन और मेटाबोलिक सिंड्रोम (ह्रदय रोगों के बहुत से कारण एक साथ घटना) हृदय रोग के मुख्य कारण है। मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर, और हाई ग्लूकोज लेवल मेटाबॉलिक सिंड्रोम के साथ जुड़े हुए हैं।

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन ने बताया है की पुरे विश्व में हृदय रोग, मृत्यु के कारणों में सर्वप्रथम है।

इन सभी बीमारियों का कारण हमारे जीवनशैली, खानपान और हमारे परिवेश के कुछ तत्व जैसे वायु प्रदूषण, गाड़ीयों के कारण ट्रैफिक से ध्वनि प्रदूषण और घर के आस-पास के परिवेश हैं।

सामान्य से ज्यादा वायु प्रदूषण के कारण हाईडेंसिटी लिपॉप्रोटीन की मात्रा घट जाती है। ट्रैफिक के शोरगुल के कारण हाइपरटेंशन की शिकायत बनती है । 

वैज्ञानिकों ने देखा कि ट्रैफिक, वायु प्रदूषण के दुस्प्रभव सिर्फ उन लोगों में देखे गए जो मल्टी फैमिली बिल्डिंग में रहते हैं।

वैज्ञानिक मानते हैं कि मल्टीस्टोरी अपार्टमेंट्स में रहने से बचना चाहिए, शोर से बचने के लिए अपार्टमेंट नॉइज़ इंसुलेटेड (ध्वनि रोधक ) हो।

Source | Image Source

यह भी पढ़ें : अनियमित रूप से सोने से बढ़ता है हार्ट अटैक का खतरा

यह भी पढ़ें : डेयरी दूध पीने से स्तन कैंसर का खतरा

लाइक करें –

कमेंट करें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here