अंटार्कटिका में तापमान पहली बार 20°C पार

0
41

अंटार्कटिका में पहली बार तापमान 20 डिग्री से ज्यादा रिकॉर्ड किया गया जो कि जलवायु अनुकूलता का प्रमाण दे रहा है। अंटार्कटिका में विश्व का सबसे बड़ा बर्फ भंडार है।

अंटार्कटिका में तापमान पहली बार 20°C पार
अंटार्कटिका में तापमान पहली बार 20°C पार

9 फरवरी को से मूर आइलैंड में ब्राजील के वैज्ञानिकों द्वारा तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। पिछला रिकॉर्ड 1982 में सिग्नी आईलैंड में लिए गया तापमान 19 डिग्री सेल्सियस से यह पूरा एक डिग्री ज्यादा है।

एक और आश्चर्य की बात है कि 6 फरवरी को एस्परेंजा में स्थित अर्जेंटीना के रिसर्च स्टेशन में 18 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया जो कि अंटार्कटिका पेनिनसुला का अब तक का सबसे अधिक तापमान है।

यह भी पढ़ें :तीन कप कॉफी पीकर डायबिटीज से बचे हैं

यह सभी रिकॉर्ड को अभी वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा सत्यापन करना अभी बाकी है। लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि इन सभी आईलैंड में पूर्व औद्योगिक योग से तापमान 3 डिग्री सेल्सियस बड़ा है। यह धरती में बहुत तेजी दर से बढ़ रहा है।

पिघलते बर्फ पर पेंगुइन्स के जीवन पर क्या प्रभाव पड़ रहा है , वीडियो में देखिये

एक वैज्ञानिक कार्लोस सचाएडर, जो दूरस्थ स्टेशनों से हर तीन दिन में डाटा कलेक्ट करने का काम करते हैं, बताते हैं कि यह नया रिकॉर्ड सामान्य नहीं है। वे कहते हैं कि बहुत से जगह जिनका वे निगरानी कर रहे हैं सभी जगहों में गर्मी बढ़ते दिख रही है लेकिन ऐसा रिकॉर्ड उन्होंने कभी नहीं देखा है।

वैज्ञानिक बताते हैं कि बर्फ का पिघलना हर गर्मी में होता है लेकिन यह कुछ सालों से ये ज्यादा हो रहे हैं, शीत ऋतु के बाद तापमान जल्दी बढ़ जा रहे हैं। यही कारण है कि चीनस्ट्रैप पेंगुइन कॉलोनी 50% तक घट गए हैं जो समुद्री बर्फ निर्भर हैं।

अंटार्कटिका के क्षेत्र में विश्व का 70% शुद्ध पानी बर्फ के रूप में मौजूद है। अगर यह सभी इधर जानते हैं तो समुद्र का स्तर 50 से 60 मीटर तक बढ़ जाएगा। वैज्ञानिक मानते हैं कि सदी के अंत तक समुद्र 30 से 110 सेंटीमीटर तक बढ़ जाएंगे।

Source

यह भी पढ़ें : जरुरत से ज्यादा पानी पीना हो सकता है खतरनाक

पोस्ट अच्छा लगे तो Like करें –

कमेंट करें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here